पत्नी ने बकरी बेचकर अस्पताल से मंगवाया पति का शव, जानिए पूरी स्टोरी

पत्नी ने बकरी बेचकर अस्पताल से मंगवाया पति का शव, जानिए पूरी स्टोरी

लातेहार,

हमारे देश मे आज गरीबी इतनी है कि गरीबों किस स्तर तक अपना जीवन यापन करना पड़ता है आप इस हकीकत को पढ़ियेजंगल में लकड़बग्घे ने देवचरण सिंह पर हमला कर दिया था। वह उससे भिड़ गए। लकड़बग्घा भाग तो गया लेकिन देवचरण गंभीर रूप से घायल हो गए। परिजनों और ग्रामीणों ने उन्हें इलाज के लिए रिम्स में भर्ती कराया। करीब दो हफ्ते के इलाज के बाद देवचरण की मौत हो गई। देवचरण की पत्नी चरकी देवी का आरोप है कि उनकी मौत वन विभाग की उपेक्षा, पैसे की कमी व रिम्स में इलाज में लापरवाही से हुई है।उसने कहा कि पैसे के अभाव में दवा खरीदने में परेशानी हो रही थी। इससे चिकित्सक भी सही ढंग से इलाज नहीं कर पा रहे थे। चरकी ने कहा कि पति के इलाज में उसके घर के बैल-बकरी बिक गए। रिम्स से शव घर लाने के लिए नर्स से एंबुलेंस की मांग की। लेकिन वाहन नहीं मिला

मजबूरी में परिजनों ने एक और बकरी बेचकर पैसे का इंतजाम किया। तब जाकर शव लाने वाला वाहन का किराया भुगतान किया गया। उसके अनुसार बगैर पोस्टमार्टम के शव गांव लाया गया और दाह संस्कार किया गया। देवचरण लातेहार के सदर थाना क्षेत्र के तरवाडीह पंचायत निवासी थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.