भाजपा सरकार पर आरोप लगाने से पूर्व अपने गिरेबान में झांके विधायक रोहित ठाकुर :उमेश

भाजपा सरकार पर आरोप लगाने से पूर्व अपने गिरेबान में झांके विधायक रोहित ठाकुर :उमेश


भारतीय जनता पार्टी मंडल जुब्बल कोटखाई ने विधायक रोहित ठाकुर उस बयान का खंडन किया है जिसमें उन्होंने भाजपा सरकार बागवान विरोधी कहा है। भाजपा मंडल अध्यक्ष उमेश शर्मा ने कहा कि कांग्रेस ने अपने 70 वर्षों के कार्यकाल में सेब बागवानों के हित के लिए कोई योजना नहीं लाई। विदेशी सेब पर आयात शुल्क तत्कालीन अटल बिहारी वाजपेई सरकार के समय में पहली बार लगाया गया था उससे पूर्व में विदेशी सेब भारत की मंडियों में बिना किसी आयात शुल्क के आता था। उन्होंने कांग्रेस विधायक को याद दिलाया कि अभी हाल ही में मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर जी ने केंद्रीय मंत्री निर्मला सीतारमण से आयात शुल्क का विषय उठाया था जिसे 100% करने की मांग प्रदेश भाजपा सरकार की ओर से की गई है, जबकि यूपीए सरकार के समय तत्कालीन केंद्रीय वाणिज्य मंत्री आनंद शर्मा ने शिमला आकर आयात शुल्क को बढ़ाने की मांग को सिरे से निरस्त कर दिया था उमेश शर्मा ने कहा कि वर्ष 2012 के चुनाव घोषणा पत्र में कांग्रेस ने विदेशी सेब पर आयात शुल्क को 150% करने का झूठा वायदा किया था और आज विधायक घड़ियाली आंसू बहा कर बागवानों के हितेषी बने हुए हैं। उमेश शर्मा ने कहा कि साफ्टा एग्रीमेंट कॉन्ग्रेस कार्यकाल में साइन किया गया था जिसके तहत दक्षिण एशियाई देशों के मध्य फल और सब्जियों पर आयात शुल्क को समाप्त कर दिया गया था किंतु भारतीय जनता पार्टी की सरकार ने सेब पर 50% आयात शुल्क को कायम रखा है।
भाजपा मंडल अध्यक्ष ने कांग्रेस विधायक को नसीहत दी कि वे झूठी खबरे फैलाकर जनता को गुमराह न करे और जनता को बताए कि उनके कार्यकाल में कितनी मंडियों का विस्तारीकरण हुआ और कौन ऐसी बागवान हितेषी योजना उन्होंने लाई है, जिसका वे सार्वजनिक जिक्र कर सकते है। फल एवं सब्जी मंडियों का विस्तारीकरण भारतीय जनता पार्टी सरकार के समय तत्कालीन बागवानी मंत्री नरेंद्र बरागटा जी के प्रयासों से संभव हुआ है जिसमें खड़ापत्थर, भट्टाकुफर, पराला, परमाणु फल मंडीओं का निर्माण किया गया और पराला में फ्रूट प्रोसेसिंग प्लांट भी भाजपा सरकार की देन है। किसान क्रेडिट कार्ड जैसी महत्वकांक्षी योजनाएं भी भाजपा सरकार की देन है जिसके कारण आज बागवानों को सुविधानुसार बैंक से 4% ब्याज पर कर्ज मिलता है।
उमेश शर्मा ने कहा कि प्रदेश भाजपा सरकार ने किसानों बागवानों को दवाइयों पर मिलने वाली सब्सिडी में कोई कटौती नहीं की है, केवल सब्सिडी को सीधा लाभार्थी बागवान के खाते में ट्रांसफर करने की योजना लाई है जिसके लिए कांग्रेसी विधायक बागवानों को गुमराह करने में लगे हैं ।
जारीकर्ता
प्रताप सिंह राणा
मीडिया प्रभारी भाजपा मंडल
जुब्बल कोटखाई।

Leave a Reply

Your email address will not be published.