मंडी में जातिवाद के चलते अंतिम संस्कार के नही खुला श्मशान घाट का गेट, फिर क्या जानिए पूरी खबर में

मंडी में जातिवाद के चलते अंतिम संस्कार के नही खुला श्मशान घाट का गेट, फिर क्या जानिए पूरी खबर में

मंडी

कोरोना काल के बीच मानवता को शर्मसार करने वाला का एक मामला मंडी में सामने आया है। जिला मंडी के जोगिंद्रनगर में त्रिवेणी महादेव मंदिर के पास श्मशानघाट में एक हरीजन की महिला के शव के अंतिम संस्कार में जातिवाद का मामला सामने आया है। मृतक महिला के परिजनों ने पंचायत प्रतिनिधियों पर दाह संस्कार के लिए श्मशानघाट का ताला खोलने से इंकार करने का आरोप लगाया है।वार्ड मैंबर बोला-श्मशानघाट में नहीं कर सकते अंतिम संस्कार
जानकारी के अनुसार दूसरे विश्व युद्ध में भारतीय सेना के सिपाही रहे लडभड़ोल की उटपुर पंचायत के टिहू राम की पत्नी शिब्जू देवी का शुक्रवार को स्वर्गवास हो गया। जब परिजन मृतका का दाह संस्कार करने गए तो उन्हें श्मशानघाट के गेट पर ताला लगा मिला। उन्होंने जब वार्ड मैंबर को फोन किया तो उसने उन्हें वहां पर अंतिम संस्कार करने से इंकार कर दिया। परिजनों का कहना है कि मंदिर कमेटी के प्रधान से लेकर पुलिस, तहसीलदार, पंचायत प्रधान व उप्रधान को कई बार फोन किए गए लेकिन उनकी कहीं कोई सुनवाई नहीं हुई, जिसके चलते काफी समय तक परिजनों सहित लोग शव के साथ श्मशानघाट के बाहर बैठे रहे।फेसबुक पर लाइव होने के बाद मौके पर पहुंचे अधिकारी
इसके बाद रमन सांख्यान जो मृतिका का पोता है उसने फेसबुक पर लाइव किया तो कई घंटे बीत जाने के बाद पुलिस अधिकारियों ने आकर श्मशानघाट का ताला तुड़वाया और मृतिका का अंतिम संस्कार करवाया,

Leave a Reply

Your email address will not be published.