मध्यप्रदेश सियासी संकट: मुख्यमंत्री कमलनाथ ने बहुमत परीक्षण से पहले दिया इस्तीफा

मध्यप्रदेश सियासी संकट: मुख्यमंत्री कमलनाथ ने बहुमत परीक्षण से पहले दिया इस्तीफा

मध्यप्रदेश में जारी सियासी घटनाक्रम के बीच मुख्यमंत्री कमलनाथ ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। इस्तीफा देने से पहले उन्होंने प्रेस कांफ्रेंस की। जिसमें उन्होंने अपनी एक साल, तीन महीने और चार दिन की सरकार की उपलब्धियां गिनाईं। उन्होंने कहा कि भाजपा शुरुआत से ही सरकार गिराने की कोशिश में लगी हुई थी। वहीं कांग्रेस छोड़कर भाजपा में शामिल होने वाले ज्योतिरादित्य सिंधिया पर भी निशाना साधा। कमलनाथ ने कहा कि एक महाराज के साथ मिलकर भाजपा ने राज्य सरकार को गिराने की साजिश रची।
राज्यपाल से मुलाकात का मांगा समय

मुख्यमंत्री कमलनाथ ने राज्यपाल लालजी टंडन से मिलने का समय मांगा है। इस मुलाकात के दौरान वह औपचारिक तौर पर राज्यपाल को अपना इस्तीफा सौंप देंगे। सूत्रों के अनुसार माना जा रहा है कि कांग्रेस के बचे हुए बाकी विधायक भी अपने पद से इस्तीफा दे देंगे।

दिग्विजय ने स्वीकार ली थी हार
दिग्विजय सिंह ने गुरुवार को स्वीकार कर लिया था कि अब उनकी सरकार सुरक्षित नहीं है। उन्होंने कहा था कि पैसे और सत्ता के दम पर बहुमत वाली सरकार को अल्पमत में लाया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.