मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने मंत्रियों,विद्यायको सांसदों से मांगी एक दिन  सैलरी, जानिए क्यों

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने मंत्रियों,विद्यायको सांसदों से मांगी एक दिन सैलरी, जानिए क्यों


यह भी पढ़ें: विधानसभा में गूंजा स्कूल खोलने का मामलाः शिक्षा मंत्री बोले-80 स्कूलों में छात्रों की संख्या शून्य

शिमला।

हिमाचल प्रदेश विधानसभा के बजट के दौरान मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने सभी मंत्रियों , सांसदों व विधायकों आग्रह किया कि वे एक दिन का वेतन सीएम राहत कोष में दें। इसके अलावा उन्होंने सभी राजपत्रित अधिकारियों, कर्मचारियों (श्रेणी-1 से 3) से भी राहत कोष में एक दिन का वेतन देने का अनुरोध किया। वक्तव्य देते हुए सीएम जयराम ने कहा कि सरकार ने अपने दो वर्ष के कार्यकाल में 36,14, 06, 270 रुपए की राशि जरूरतमंदों को वितरित की है। उन्होंने कहा कि बीजेपी ने जब सत्ता संभाली थी तो सीएम राहत कोष में लगभग 98 लाख थे। 27 दिसंबर 2017 से अब तक कोष में 37 करोड़ 21 लाख राशि प्राप्त हुई है। इनमें से 36 करोड़ 14 लोख 1 हजार 870 लाभार्थियों को दी गई है।

मुख्यमंत्री राहत कोष से गंभीर बीमारी से ग्रस्त व्यक्तियों के उपचार, प्राकृतिक आपदा से हुए नुकसान में राहत, परिवार के कमाने वीले सदस्य के मृत्यु पर , बेसहारा विधवाओं के बच्चों के पालन-पोषण व गरीब परिवारों के मेधावी छात्रों की व्यवसायिक शिक्षा प्राप्ती हेतु आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.