मुख्यमंत्री ने मंडी  के चक्कर में 16.32 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित 50 हजार लीटर क्षमता के नए दुग्ध प्रसंस्करण संयंत्र का लोकार्पण किया

मुख्यमंत्री ने मंडी के चक्कर में 16.32 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित 50 हजार लीटर क्षमता के नए दुग्ध प्रसंस्करण संयंत्र का लोकार्पण किया

बाल्ट एवं सध्याणी में पशु चिकित्सालय खोलने की घोषणा

मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने आज मंडी जिला के बल्ह विधानसभा क्षेत्र के चक्कर में 16.32 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित 50 हजार लीटर क्षमता के नए दुग्ध प्रसंस्करण संयंत्र का लोकार्पण किया। उन्होंने सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र गागल और प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र राजगढ़ का भी लोकार्पण किया। उन्होंने कहा कि यह प्लांट अर्ध-स्वचालित ढंग से दुग्ध प्रसंस्करण की सुविधा प्रदान करेगा जिससे और अधिक किसानों से दूध खरीद की सुविधा प्राप्त होगी।
चक्कर में जनसभा को संबोधित करते हुए जय राम ठाकुर ने कहा कि हिमाचल प्रदेश दुग्ध प्रसंघ द्वारा वर्ष 2021-22 में प्रदेश के 47295 किसानों से 395 लाख लीटर दूध की खरीद कर किसानों को 110.56 करोड़ रुपये प्रदान किए गए। उन्होंने कहा कि दूध उत्पादन राज्य के किसानों की आय का मुख्य साधन है। उन्होंने कहा कि वर्तमान सरकार के कार्यकाल में दूध की खरीद में 78 प्रतिशत की बढ़ोतरी दर्ज की गई है और यह वर्ष 2017-18 में 219 लाख लीटर से बढ़कर वर्ष 2021-22 में 395.39 लाख लीटर हो गई है। उन्होंने कहा कि वर्ष 2017-18 में हिमाचल प्रदेश दुग्ध प्रसंघ का कुल टर्नओवर 99 करोड़ रुपये था जो वर्ष 2021-22 में बढ़कर 172 करोड़ रुपये हो गया है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्तमान प्रदेश सरकार के कार्यकाल में किसानों से दूध खरीद के मूल्य में प्रति लीटर 9 रुपये की अभूतपूर्व वृद्धि हुई है और वर्ष 2017-18 में 22.90 रुपये प्रति लीटर से बढ़कर वर्ष 2022-23 में यह 31.90 रुपये प्रति लीटर पर पहुंच गया है। उन्होंने कहा कि दुग्ध समितियों के कमीशन में भी 4.5 प्रतिशत से 5 प्रतिशत तक की बढ़ोतरी हुई है और दुग्ध प्रसंघ देश में दुग्ध उत्पादकों को सबसे अच्छा मूल्य प्रदान कर रहा है।
जय राम ठाकुर ने कहा कि राज्य में दुग्ध प्रसंघ के आज 11 दुग्ध प्रसंस्करण संयंत्र, एक कैटल फीड प्लांट और एक पाउडर प्लांट क्रियाशील है। उन्होंने कहा कि मंडी के चक्कर में इस मिल्क प्लांट की स्थापना से अब सभी दुग्ध संयंत्रों की कुल दैनिक क्षमता 1 लाख लीटर से बढ़कर 1 लाख 30 हजार लीटर प्रतिदिन हो गई है। उन्होंने कहा कि 50 हजार लीटर क्षमता के एक अन्य दुग्ध प्रसंस्करण संयंत्र का निर्माण दत्तनगर में किया जा रहा है और इसका 70 प्रतिशत कार्य पूर्ण हो चुका है। उन्होंने कहा कि यह संयंत्र मंडी, कुल्लू, बिलासपुर और अन्य जिलों के हजारों दुग्ध उत्पादक किसानों को सुविधा प्रदान करेगा।
मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 24 सितम्बर, 2022 को मंडी का दौरा करेंगे, जो राज्य और यहां की जनता के प्रति प्रधानमंत्री के अपार स्नेह को दर्शाता है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने राज्य के अपने दौरे से पूर्व ही प्रदेश के लिए बल्क ड्रग पार्क को मंजूरी प्रदान कर दी है। उन्होंने कहा कि यह उन लोगों को करारा जवाब है जो यह आरोप लगा रहे हैं कि प्रधानमंत्री ने प्रदेश को कुछ नहीं दिया। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री द्वारा राज्य को 800 करोड़ रुपये की विशेष सहायता प्रदान करने के अलावा राज्य के लिए 10,000 करोड़ रुपये से अधिक की विकास परियोजनाओं को मंजूरी प्रदान गई है।
जय राम ठाकुर ने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा हिमाचल को विकास के क्षेत्र में अग्रणी बनाने के लिए राज्य की जनता के योगदान पर उनका आभार व्यक्त करने के उद्देश्य से प्रदेशभर में 75 कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं जिस पर विपक्ष बुरी तरह से परेशान है। उन्होंने कहा कि सत्ता परिवर्तन की परंपरा बदलने को लेकर भाजपा सरकार का नारा भी कांग्रेस नेताओं को रास नहीं आ रहा है। उन्होंने कहा कि यह परंपरा पूरे देश में बदल रही है और अब इसे दोहराने की हिमाचल की बारी है।
मुख्यमंत्री ने सभी मापदंडांे को पूर्ण करने पर बल्ह के ऊपरी क्षेत्र में औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान खोलने तथा बाल्ट एवं सध्याणी में पशु चिकित्सालय खोलने की भी घोषणा की।
बल्ह के विधायक इंद्रसिंह गांधी ने क्षेत्र के लोगों की विकासात्मक मांगों पर सदैव सकारात्मक रूख अपनाने पर मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि बल्ह विधानसभा क्षेत्र में 780 करोड़ रुपये से अधिक की विकास परियोजनाओं का क्रियान्वयन किया जा रहा है। उन्होंने मुख्यमंत्री से बल्ह में एक औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान खोलने का भी आग्रह किया। उन्होंने क्षेत्र की विभिन्न विकास मांगों का विस्तृत ब्यौरा भी रखा।
हिमाचल प्रदेश दुग्ध प्रसंघ के अध्यक्ष निहाल चंद शर्मा ने इस अवसर पर मुख्यमंत्री और अन्य गणमान्य व्यक्तियों का स्वागत किया। उन्होंने क्षेत्र के किसानों की सुविधा के लिए दुग्ध संयंत्र का उद्घाटन करने के लिए मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि वर्तमान में चक्कर में दुग्ध प्रसंस्करण संयंत्र की दैनिक क्षमता 20,000 लीटर है और इस प्रसंस्करण संयंत्र में प्रतिदिन लगभग 50,000 से 60,000 लीटर दूध एकत्र किया जा रहा है। उन्होंने किसानों के लिए दूध के खरीद मूल्य में नौ रुपये प्रति लीटर की रिकॉर्ड वृद्धि करने के लिए भी मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त किया।
इस अवसर पर भाजपा मंडल अध्यक्ष राजिंदर राणा, दिल्ली के पूर्व विधायक और बल्ह विधानसभा क्षेत्र के प्रभारी सुभाष सचदेवा, जिला परिषद सदस्य प्रियंता शर्मा, मिल्कफेड के प्रबंध निदेशक भूपिंदर अत्री सहित अन्य गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।
.0.

Leave a Reply

Your email address will not be published.