राठौर की देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी  पर की गई टिप्पणी निंदनीय- शशिदत्त

राठौर की देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर की गई टिप्पणी निंदनीय- शशिदत्त

भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता शशि दत्त ने कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष राठौर की देश के प्रधानमंत्री मोदी जपर की टिप्पणी गई टिप्पणी पर कड़ी निंदा की है। शशि दत्त ने कहा है कि या तो कांग्रेस के अध्यक्ष जी अल्प ज्ञान के चलते ऐसा बोल रहे है या उनको इस संकट की घड़ी में भी केवल राजनीति ही सूझ रही है।
उन्होंने कहा कि गत 22 मार्च को माननीय प्रधानमंत्री के आह्वान पर जब 5 बजे शाम को पूरा देश उठ खड़ा हुआ और पूरे देश की 130 करोड़ जनता ने घंटी,थाली,और ताली बजा कर कोरोना से लड़ रहे डॉक्टर, मेडिकल स्टाफ,पुलिस व अन्य सभी का जिस गरम जोशी से धन्यबाद किया वह कांग्रेस के लोगों से हजम नही हो रहा है। कांग्रेस के इन स्वम्भू नेताओं को इस संकट की घड़ी में देश और समाज के साथ खड़ा होना चाहिए जबकि कांग्रेस इस घड़ी में भी घटिया राजनीति कर रही है।
शशि दत्त ने कहा कि इस संकट और निराशा के वातावरण में प्रधानमंत्री मोदी जी के आह्वान पर 5 अप्रैल को 9 बजे शाम को 9 मिनट के लिए दिए, टोर्च, मोबाइल फलेश लाइट जला कर एकजुटता का प्रदर्शन करना और देश की 130 करोड़ जनता द्वारा फिर एक बार यह प्रदर्शित करना कि संकट की इस घड़ी मैं पूरा देश एक साथ खड़ा है तथा कोरोना से इस लड़ाई में देश के प्रधानमंत्री जी के साथ कंधे से कंधा मिला कर खड़ा है। शशि दत्त ने कहा कि कांग्रेस के लोगों को ये हजम नही हो रहा जबकि ऐसे नाज़ुक समय में तो कम से कम घटिया राजनीति न करे ।
शशि दत्त ने कहा कि कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष कुलदीप राठौर ने 2 साल में तीसरी बार कार्यकारणी बनाई है 2 बार की कार्यकारणी कांग्रेस हइकॉमण्ड ने भंग कर दी थी । अतः राठौर पहले अपनी कार्यकारणी को थोड़ा दिन चला तो लें और कम से कम एक मीटिंग तो कर लें। उनके नेतृत्व में हुए उपचुनाव में कांग्रेस धर्मशाला में अपनी
ज़मानत तक नही बचा पाई अतः इसे व्यक्ति को देश के प्रधानमंत्री पर टिप्पणी करने का कोई अधिकार नही है।
उन्होंने कहा कि कांग्रेस के 150 पदाधिकारियों की लंबी सूची में 50 महामंत्री है उनमें से एक माह मंत्री को 15 व 16 मार्च को प्रदेश भाजपा की कार्यसिमिति कि बैठक आज 20 दिन बाद याद आ गई। तथा उनका कहना है कि भाजपा को बैठक नही करनी चाहिए थी। उनको बता देना चाहते है कि वो पहले अपने बूथ पर ध्यान दे जिसमें की लोकसभा चुनाव में भाजपा की जीत हुई है तथा यह भी बताना चाहते है कि भाजपा की हर 3 महीने में प्रदेश कार्यसिमिति की बैठक होती है कांग्रेस की तरह 5 साल में एक बार नही और भाजपा में सिर्फ 4 महामंत्री होते है 50 नही। अतः वह भी भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष पर सोच समझ कर टिप्पणी करें। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष 4 बार विधायक बन चुके है पूर्व में मंत्री विधानसभा अध्यक्ष और कई पदों पर जिम्मेदार निभा चुके है इसलिए भाजपा प्रदेश अध्यक्ष पर ऐसे आधारहीन लोगों द्वारा टिप्पणी भाजपा कभी सहन नही करेगी।
शशि दत्त ने कहा है कि कम्युनिस्ट पार्टी के विधायक द्वारा की गये टिप्पणी भी निंदनीय है तथा यह कम्युनिस्ट पार्टी के देश और समाज विरोधी चेहरे को उजागर करता है। कम्युनिस्ट पार्टी हमेशा राष्ट्रीयता के विरोध में रही है जिसके कारण आज पूरे देश की जनता ने इस विचार को पूरी तरह से नकार दिया है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.