शिमला:मुख्यमंत्री ने विकासनगर में 3 करोड़ लागत की लिफ्ट व फुट ओवर ब्रिज का उदघाटन किया

शिमला:मुख्यमंत्री ने विकासनगर में 3 करोड़ लागत की लिफ्ट व फुट ओवर ब्रिज का उदघाटन किया

संख्याः 1099/2022 शिमला 25 सितम्बर, 2022

शिमला स्मार्ट सिटी मिशन के अंतर्गत शहर के लिए 713 करोड़ रुपए की 216 परियोजनाएं स्वीकृत जय राम ठाकुर

मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने आज शिमला शहर के विकासनगर में लगभग तीन करोड़ रुपए की लागत से स्मार्ट सिटी मिशन के तहत पहले चरण में निर्मित लिफ्ट और फुट ओवर ब्रिज का शुभारंभ किया।
पुलिस चौकी विकासनगर के पास बनी 36 मीटर ऊंची यह लिफ्ट लोगों को सीधे राष्ट्रीय राजमार्ग तक पहुंचाएगी। इस लिफ्ट में 20 लोग एक साथ आ-जा सकेंगे और उन्हें चढ़ाई से भी छुटकारा मिलेगा। वहीं खलीणी-पंथाघाटी सड़क पर विकासनगर के 53 मीटर लंबे फुट ओवर ब्रिज से लोगों को बिना किसी दुर्घटना के खतरे से सड़क पार करने में आसानी होगी।
मुख्यमंत्री ने कहा कि विकासनगर में लिफ्ट बनने से स्थानीय निवासियों, नौकरी पेशा लोगों और स्कूली बच्चों को सबसे अधिक लाभ होगा। उन्होंने कहा कि यह परियोजना रोपवेज़ एंड रैपिड ट्रांसपोर्ट सिस्टम डेवलपमेंट कॉर्पाेरेशन लिमिटेड (आरटीडीसी) द्वारा क्रियान्वित की जा रही है। प्रथम चरण के कार्य के उपरांत अब दूसरे चरण में 24 मीटर तथा तीसरे चरण में 29 मीटर ऊंची लिफ्ट और 44 मीटर व 47 मीटर लंबे फुट ओवर ब्रिज से विकासनगर को ब्रॉकहर्स्ट से जोड़ा जाएगा, जिसकी अनुमानित लागत 7.62 करोड़ रुपए है। यह कार्य आगामी जून माह तक पूर्ण करने का लक्ष्य रखा गया है।
जय राम ठाकुर ने कहा कि इससे विकासनगर से ब्रॉकहर्स्ट तक लोगों का निर्बाध आवागमन सुनिश्चित होगा और वहां से छोटा शिमला तक 12.78 करोड़ रुपए की अनुमानित लागत से एक पैदल वॉक-वे परियोजना का कार्य भी जारी है। उन्होंने कहा कि इन परियोजनाओं के पूर्ण होने पर लोगों को विकासनगर से छोटा शिमला तक सुगम आवागमन की सुविधा मिल सकेगी।
मुख्यमंत्री ने कहा कि शिमला स्मार्ट सिटी मिशन के अंतर्गत शहर के लिए 713 करोड़ रुपए की 216 परियोजनाएं स्वीकृत की गई हैं। स्मार्ट सिटी के अंतर्गत शहर में स्मार्ट पार्किंग, फुट ओवर ब्रिज, लिफ्ट, एस्केलेटर, गरीबों के लिए पक्के घर, कारोबारियों के लिए नई दुकानें, तहबाजारियों के लिए नए स्टॉल की सुविधा प्रदान की जा रही है।
जय राम ठाकुर ने कहा कि फुट ओवरब्रिज के निर्माण से संबंधित 91.19 करोड़ रुपए की 33 परियोजनाएं क्रियान्वित की जा रही हैं जो शहर में पैदल चलने वालों के लिए यातायात में सुरक्षा को बढ़ावा देंगी। शहर में निगरानी व आईटी से संबंधित करीब 45 करोड़ रुपए की चार परियोजनाएं क्रियान्वित की जा रही हैं। इससे महत्वपूर्ण सरकारी सेवाओं की प्रभावी निगरानी के लिए आईसीटी बुनियादी ढांचा सुदृढ़ होगा।
मुख्यमंत्री ने कहा कि शिमला स्मार्ट सिटी मिशन के तहत स्मार्ट बस स्टॉप व सब-वे के निर्माण व ई-मोबिलिटी से संबंधित 39.15 करोड़ रुपए की 6 परियोजनाएं क्रियान्वित की जा रही हैं। उन्होंने कहा कि इन परियोजनाओं पर विभिन्न स्तरों पर कार्य जारी है और शीघ्र ही शिमला शहर एक नए स्वरूप में नज़र आएगा।
इस अवसर पर शहरी विकास मंत्री सुरेश भारद्वाज, उपायुक्त आदित्य नेगी, नगर निगम शिमला के आयुक्त आशीष कोहली, स्थानीय जनप्रतिनिधि, आरटीडीसी के निदेशक अजय शर्मा, भाजपा पदाधिकारी, वरिष्ठ अधिकारी एवं अन्य गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।
.0.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *