स्वास्थ्य विभाग  में घोटालो को जनता के बीच उजागर करने 9 जून से ब्लॉक स्तर पर प्रदर्शन किया जाएगे: संजय चौहान

स्वास्थ्य विभाग में घोटालो को जनता के बीच उजागर करने 9 जून से ब्लॉक स्तर पर प्रदर्शन किया जाएगे: संजय चौहान


भारत की कम्युनिस्ट पार्टी(मार्क्सवादी) की राज्य कमेटी प्रदेश सरकार के स्वास्थ्य विभाग व सचिवालय में हुए पी पी ई, सैनिटाइजर व अन्य साजो सामान की खरीद फरोख्त व आपूर्ति को लेकर हुए घोटालों व भ्र्ष्टाचार को लेकर सरकार के ढुलमुल व सिथिल रवैये की कड़ी निंदा करती है और इसकी सच्चाई जनता के सामने लाने के लिए उच्च न्यायालय के वर्तमान जज की निगरानी में न्यायिक जांच की मांग को लेकर 9 जून, 2020 को ब्लॉक स्तर पर प्रदर्शन किया जाएगा। क्योंकि जिस प्रकार का घटनाक्रम इन घोटालों के उजागर होने के पश्चात देखा गया है और सत्ताधारी दल बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष का इस प्रकरण के कारण इस्तीफे से यह मामला और भी पेचीदा हो गया है और जिस प्रकार से प्रदेश सरकार के द्वारा इसकी जांच की जा रहीं हैं उससे काफी अन्य सवाल भी खड़े हुए हैं। इसलिए इसकी निष्पक्ष जांच आवश्यक है ताकि जनता के समक्ष सच्चाई आ सके।
इस प्रदर्शन में निम्न मुख्य मांगो पर बल दिया जाएगा ताकि प्रदेश सरकार के स्वास्थ्य विभाग व सचिवालय में हुए व्यापक भ्र्ष्टाचार व घोटाले जनता के समक्ष उजागर हो और इन पर रोक लगा कर जनता के संसाधनों का जनहित में उपयोग हो सके।
1.प्रदेश के स्वास्थ्य विभाग व सचिवालय में पी पी ई, सैनिटाइजर व अन्य साजो सामान की खरीद व आपूर्ति में हुए सभी घोटालों की जाँच उच्च न्यायालय के न्यायाधीश की निगरानी में न्यायिक जांच की जाए।
2.कोविड19 के दौरान डिसास्टर मैनेजमेंट एक्ट के तहत व अन्य खरीद फरोख्त का लेखा जोखा सार्वजनिक किया जाए तथा सरकार इस पर श्वेतपत्र जारी करे।
3.प्रदेश में स्वास्थ्य सेवाओं के सुधार के लिए ठोस कदम उठाए जाएं। स्वास्थ्य विभाग में सभी वर्गों में विभिन्न श्रेणियों के रिक्त पड़े पदों को तुरंत भरा जाए तथा अस्पतालों व अन्य स्वास्थ्य संस्थानो में बुनियादी ढांचा मजबूत किया जाए।
4.कोविड19 के लिये बनाए गए सभी केंद्रों व डेडिकेटेड हस्पतालों में स्टाफ व सभी प्रकार की आवश्यक सुविधाएं विश्व स्वास्थ्य संगठन(WHO) द्वारा तय मानकों पर उपलब्ध करवाया जाए।

  1. प्रदेश सरकार द्वारा की जा रही स्वास्थ्य विभाग व अन्य संस्थानों द्वारा मेडिकल उपकरणों व अन्य सामान की खरीद फरोख्त के लिए कानून के तहत नियमानुसार एथिकल कमेटी का गठन किया जाए और जो भी खरीद फरोख्त की जाती है उसे वेबसाइट पर सार्वजनिक किया जाए।
    6.स्वास्थ्य विभाग में सैनिटाइजर, पी पी ई व अन्य साजो सामान की खरीद व आपूर्ति में हुए घोटाले व भ्र्ष्टाचार के लिए जिम्मेवारो का पर्दाफाश कर और उनको कड़ी सजा दी जाए।
    सी.पी.एम. प्रदेश की आम जनता से आग्रह करती है कि इस प्रदर्शन का हिस्सा बने ताकि प्रदेश में चल रहे व्यापक भ्र्ष्टाचार व स्वास्थ्य विभाग में हुए इन घोटालों को उजागर कर इनपर रोक लगाने के लिए दबाव बनाया जा सके

Leave a Reply

Your email address will not be published.