हमीरपुर जिला में आज कोरोना पॉजिटीव के कुल 27 नए मामलों की पुष्टि:उपायुक्त श्री हरिकेश मीणा

हमीरपुर जिला में आज कोरोना पॉजिटीव के कुल 27 नए मामलों की पुष्टि:उपायुक्त श्री हरिकेश मीणा

#कोरोना संक्रमण के फैलाव को रोकने में प्रशासन को सहयोग बनाए रखें।
हमीरपुर, 21 मई। उपायुक्त श्री हरिकेश मीणा ने कहा कि आज जिला में कोविड-19 संक्रमित कुल 27 मामलों की पुष्टि अभी तक हुई है। इनमें से पांच प्रातः और पांच दोपहर को, छह दोपहर बाद, चार की सायंकाल को और सात संक्रमित मामलों की रिपोर्ट देर सायं को प्राप्त हुई है।

इनमें से अधिकांश लोग मुंबई से रेलगाड़ी में वापस लौटे थे, जबकि एक अन्य पंजाब के जालंधर से लौटा है।

दोपहर को प्राप्त रिपोर्ट में से ग्वाल पत्थर क्षेत्र के करसोआ गांव का 53 वर्षीय व्यक्ति एवं उनकी 73 वर्षीय माता राजकीय प्राथमिक पाठशाला सेरी में संस्थागत संगरोध में रखे गए थे। इन दोनों में कोविड-19 संक्रमण की पुष्टि हुई है।

इसी प्रकार हटली क्षेत्र के एक व्यक्ति, उसकी बेटी व बेटा दियोटसिद्ध में संस्थागत संगरोध में रखे गए थे।

मुंबई से लौटे पांच अन्य लोगों के भी कोविड-19 संक्रमित होने की पुष्टि हुई है।

इनमें से जलाड़ी क्षेत्र के हरमंदर गांव के 44 वर्षीय व्यक्ति तथा कराड़ा गांव के 67 वर्षीय व्यक्ति को बहुतकनीकी संस्थान बड़ु में संस्थागत संगरोध में रखा गया था।

इसके अतिरिक्त चंगर गांव के 43 वर्षीय व्यक्ति, कक्कड़ क्षेत्र के 41 वर्षीय व्यक्ति तथा पदेहड़ गांव के 34 वर्षीय व्यक्ति को नवोदय विद्यालय डुंगरी में संस्थागत संगरोध में रखा गया था।

जालंधर से अपनी पत्नी का उपचार कर लौटा डुग्घा गांव का 75 वर्षीय एक अन्य व्यक्ति भी कोविड-19 संक्रमित पाया गया है।

इसके अतिरिक्त मुंबई से लौटे चार और लोग कोविड-19 संक्रमित पाए गए हैं। जिनमें नादौन क्षेत्र के कश्मीर का 45 वर्षीय व्यक्ति बड़ा मनोटी में संस्थागत संगरोध में था। बड़सर के भलाट का 63 वर्षीय व्यक्ति, चनबल का 22 वर्षीय व चलबोला का 18 वर्षीय युवक दियोटसिद्ध में संस्थागत संगरोध में रखे गए थे।

देर सायं प्राप्त रिपोर्ट अनुसार संक्रमित सात व्यक्तियों का ब्यौरा भी एकत्र किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि यह सभी संक्रमित व्यक्ति संस्थागत संगरोध में रखे गए हैं। उन्होंने लोगों से आग्रह किया है कि वे #घबराएं नहीं और #कोरोना संक्रमण के फैलाव को रोकने में प्रशासन को सहयोग बनाए रखें।

संबंधित उपमंडलाधिकारियों (ना.) को इन क्षेत्रों को सील (बंद) करने के निर्देश दे दिए गए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.