हिमाचल अलर्ट :चीन से झड़प के बाद सीमा पर रातभर मंडराते रहे लड़ाकू विमान

हिमाचल अलर्ट :चीन से झड़प के बाद सीमा पर रातभर मंडराते रहे लड़ाकू विमान

 चीन और लद्दाख से सटे हिमाचल के दो जिलों में अलर्ट के बाद जिला कुल्लू और लाहौल के आसमान में लडा़कू विमानों की गड़गड़ाहट सुनाई दीकुल्लू और लाहौल के आसमान में रात 11 बजे लडा़कू विमान उड़ते देखे गए। स्थानीय लोगों ने सोशल मीडिया पर पोस्ट डालकर लिखा कि आसमान में लडा़कू विमानों की आवाज सुनाई दे रही है, भारतीय सेना बड़ी कार्रवाई की तैयारी कर रही है। लद्दाख की गलवां घाटी में चीनी सैनिकों के साथ हिंसक झड़प में 20 जवानों की शहादत के बाद लाहौल-स्पीति और किन्नौर में अलर्ट जारी कर दिया गया है।

लाहौल-स्पीति की लद्दाख और किन्नौर जिले की सीमा चीन से सटी है। बता दें कि समदो बॉर्डर का प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दौरा कर जवानों का हौसला बढ़ा चुके हैं। पाकिस्तान से कारगिल युद्ध में मनाली-लेह मार्ग ने सेना को रसद और गोला-बारूद पहुंचाने में अहम भूमिका अदा की थी। हिमाचल की करीब 50 किलोमीटर सीमा चीन से लगती है। एहतियातन सीमा पर चौकसी बढ़ा दी गई है। पुलिस अधीक्षक लाहौल-स्पीति राजेश धर्माणी ने बताया कि जिले के पुलिस थानों-चौकियों को अलर्ट कर पेट्रोलिंग और गश्त बढ़ाने को कहा है।
मनाली-लेह मार्ग से जा रहे सेना के वाहनों की सुरक्षा पर भी कड़ी नजर है। एसपी किन्नौर एसआर राणा ने बताया कि चीन सीमा से सटे तीन पुलिस थानों मूरंग, सांगला, पूह और चौकी यंगथंग को पत्र लिखकर सावधानी और सतर्कता बरतने के निर्देश जारी किए हैं। कोई हलचल या आशंका होने पर जिला मुख्यालय पुलिस को तुरंत सूचित करने को कहा है। अभी किसी अप्रिय घटना की सूचना नहीं है, किन्नौर पुलिस अलर्ट है।
चीन के साथ लद्दाख में भारत के बढ़ते गतिरोध के बीच हिमाचल में भी चीन की गतिविधियां देखने को मिली थीं। पिछले साल हिमाचल की चीन से लगती सीमा के चीनी क्षेत्र में निर्माण को लेकर गतिविधियां देखी गई थीं। हालांकि उस समय सारी गतिविधियां चीनी क्षेत्र में ही थीं लेकिन भारतीय सुरक्षा एजेंसियां इस पर नजर बनाए हुए थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.