हिमाचल से राज्यसभा के लिए इंदु गोस्वामी ने नाम पर मोहर लगी,इंदु गोस्वामी  कांगड़ा से शिमला के लिए निकली

हिमाचल से राज्यसभा के लिए इंदु गोस्वामी ने नाम पर मोहर लगी,इंदु गोस्वामी कांगड़ा से शिमला के लिए निकली


शिमला –

हिमाचल से राज्यसभा सीट के लिए भाजपा महिला मोर्चा की पूर्व अध्यक्ष इंदू गोस्वामी का नाम फाइनल हो गया है। केंद्रीय हाइकमान ने ऐन मौके पर इंदू गोस्वामी का नाम आगे किया है। हालांकि प्रदेश भाजपा चुनाव समिति ने राज्यसभा सदस्य के लिए पूर्व पार्टी अध्यक्ष सतपाल सिंह सत्ती, महेंद्र पांडे तथा केंद्रीय विश्वविद्यालय के वाइस चांसलर कुलदीप चंद अग्निहोत्री का पैनल भेजा था। केंद्रीय हाइकमान ने चुनाव समिति के नामों को दरकिनार करते हुए इंदू गोस्वामी का नाम तय कर प्रदेश को भेजा है। इस आधार पर अब इंदू गोस्वामी 13 मार्च को हिमाचल की खाली हो रही राज्यसभा सीट के लिए नामांकन पत्र दाखिल करेंगी। उल्लेखनीय है कि इंदू गोस्वामी को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का बेहद करीबी माना जाता है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जब हिमाचल भाजपा के प्रभारी थे, उस दौरान इंदू गोस्वामी प्रदेश की राजनीति में काफी सक्रिय थीं। उस समय इंदू गोस्वामी बैजनाथ विधानसभा क्षेत्र से भी टिकट की प्रबल दावेदार रहीं थी। धूमल सरकार में वह महिला आयोग की अध्यक्ष बनाई गई थी। पिछले विधानसभा चुनावों में इंदू गोस्वामी को शांता कुमार की नाराजगी के बावजूद पालमपुर विधानसभा क्षेत्र से टिकट दिया गया था। चुनाव हार जाने के बावजूद इंदू गोस्वामी को भाजपा में बराबर त्वज्जो मिलती रही। जाहिर है कि कांगड़ा की सियासत में कोई भी नेता शांता कुमार के विरोध के आगे नहीं टिक पाया है। विधानसभा चुनावों में शांता कुमार अपने चहेते प्रवीण शर्मा को टिकट चाहते थे। बावजूद इसके केंद्रीय हाइकमान ने शांता कुमार के गृह चुनाव क्षेत्र पालमपुर से इंदू गोस्वामी को उतार दिया था। बहरहाल अब इंदू गोस्वामी विप्लव ठाकुर की जगह राज्य सभा के लिए दिल्ली जाएंगी। रोचक है कि केंद्रीय हाइकमान ने अपने स्तर पर हिमाचल का यह तीसरा बड़ा सियासी फैसला लिया है। इससे पहले विधानसभा अध्यक्ष के लिए कर्नल इंद्र सिंह, नरेंद्र बरागटा और रमेश धवाला के नामों की चर्चा थी। ऐन मौके पर केंद्रीय हाइकमान ने तत्कालीन स्वास्थ्य मंत्री विपिन सिंह परमार का नाम आगे बढ़ाकर सबको चौंका दिया था। यही नहीं, भाजपा प्रदेशाध्यक्ष के लिए भी मंडी के सांसद रामस्वरूप शर्मा और मुख्यमंत्री के राजनीतिक सलाहकार त्रिलोक जम्वाल सहित कई नाम प्रदेश से सुझाए थे। इन नामों को भी दरकिनार कर केंद्रीय हाइकमान ने तत्कालीन विधानसभा अध्यक्ष डा. राजीव बिंदल को भाजपा प्रदेशाध्यक्ष की कमान सौंपी थी। अब राज्यसभा के लिए भी इंदू गोस्वामी का नाम दिल्ली से ही तय हुआ है।

सीएम ने बुलाई भाजपा विधायक दल की बैठक बुलाई हैंकेंद्रीय हाइकमान के फरमान के बाद मुख्यमंत्री ने भाजपा विधायक दल की बैठक बुलाई। इस बैठक में इंदू गोस्वामी के नाम की विधायकों के समक्ष औपचारिक घोषणा की गई। राज्यसभा सदस्य के नामांकन के अलावा भाजपा विधायक दल ने विधानसभा की शेष बैठकों को लेकर भी रणनीति बनाई जाएगी

Leave a Reply

Your email address will not be published.